Tuesday, December 17, 2013

ओंटेरियो झील पर सीएन टावर के नीचे



लेक ओंटेरियो को झील कहना हर लिहाज से गुस्ताखी होगी। टोरंटो में हार्बर पर खड़े क्रूज व बड़ी बड़ी बोट्स। अमेरिका के न्यूयार्क प्रांत को कनाडा के ओंटेरियो राज्य से जोड़ने वाली इसकी सैकडों मील की लम्बाई। हजारों तरह की वनस्पतियों, पेड़ पौधों और जीव जन्तुओं वाली बायोडायवर्सिटी मुझे हमेशा मजबूर करती है कि मैं इस झील को समुद्र के रूप में याद करूं। टोरंटो यात्रा के दौरान रोजाना मेरी सुबह और शाम इस झील के के किनारे ही बीतती थी। सुबह अक्सर हमारे साथ अरुण त्रिपाठी होते थे। वरिष्ठ पत्रकार हैं अरुण जी। 2006 में मैं हिन्दुस्तान लखनऊ में सीनियर रिपोर्टर था और वह दिल्ली में सीनियर न्यूज एडिटर। हम दोनो साथ ही टोरंटो गए थे। खैर बात सुबह की हो रही थी तो अरुण जी का जि़क्र आया। शाम वाले साथी और थे। अब बात की जाए सीएन टावर की। यह टावर टोरंटो की दूरसंचार सेवाओं को दुरुस्त रखने के लिए बनाया गया था पर अब यह पर्यटन केन्द्र के तौर पर जाना जाता है। काफी लम्बे अरसे तक यह विश्व का सबसे ऊंचा टावर माना जाता रहा। बाद में दुबई में बुर्ज खलीफा बनने के बाद यह पीछे छूट गया। फिर भी टोरंटो आने वाले हर पर्यटक इसकी ऊंचाइयों पर जाकर शहर व झील के नजारों को देखना नहीं भूलता। इसे सत्तर के दशक में बनाया गया था। वैसे यह सारी जानकारियां तो आप गूगल से भी ले सकते हैं। मैं तो बस फील का जिक्र करना चाहता हूं। अगस्त के महीने में जाइए, सबसे बढ़िया समय होता है। बहुत मजा आएगा-